loading
Jitendra Vishwakarma
09 November 2017 4:55:49 AM UTC in Jitendra vishwakarma

तुम्हे भूलना इतना आसान नही तुझे जब भी याद करता हूँ न इन आंखों से बस अश्क़ ही बहेते हैं Jitendra

तुम्हे भूलना इतना आसान नही 
तुझे जब भी याद करता हूँ न
इन आंखों से बस अश्क़ ही बहेते हैं

Jitendra
तुम्हे भूलना इतना आसान नही तुझे जब भी याद करता हूँ न इन आंखों से बस अश्क़ ही बहेते हैं Jitendra
तुम्हे भूलना इतना आसान नही
तुझे जब भी याद करता हूँ न
इन आंखों से बस अश्क़ ही बहेते हैं

Jitendra vishwakarma
9664277233
(guest)

0

Reply