loading
Ashutosh pandey
30 October 2017 8:33:11 AM UTC in HIndi Shayari

मेरे एहसास में अपनाकर मैं औ शेरों में

मेरे एहसास में अपनाकर मैं औ शेरों में 
तू ही पोशीदा फ़कत रश्के कमर मिलती है
हो नहीं सकते कभी अश्क किसी गम का इलाज
टूटने वाले सितारों से ख़बर मिलती है
(guest)

0

Reply