loading

hindi shayari

Bushra Aiman
तुम हमसे यह ना कह देना पसंद अब हम नहीं तुमको
नहीं भाया है भाए गा तुम्हारे बिन कोई हमको
Bushra Aiman
तुम्हें को चाहते हैं और तुम ही से दिल लगाते हैं
तुम्हारी याद से दिन रात सपनों को सजाते हैं
Bushra Aiman
तुम्हारे आए बन के रहमत हो तुम्हें क्यों कर भी जाने दे
खुशी बस तुम ही लाए थे तुम्हें क्यों करना न आने दे
Bushra Aiman
तुम आकर जिंदगी को यू खूबसूरत कर ही जाओगे
अगर मालूम होता तो तुम्हें कब का बुला लेते यहां
Bushra Aiman
हमारे पास आ जाओ बहुत मुद्दत से बैठे हैं
तुम्हारी राह तकते हैं तुम्हारा नाम लेते हैं
Bushra Aiman
मोहब्बत तुझ से करते हैं तुम्हें पर ही हम मरते हैं
मैं दीवानी भी तेरे ही तेरा ही तो दम भरते हैं
Bushra Aiman